Two Lines Hindi Shayari – बस ये कहकर टाँके

बस ये कहकर टाँके लगा दिये उस हकीम ने…

कि जो अंदर बिखरा है उसे खुदा भी नहीं समेट सकता