राब्ता शायरी – उनका आना सिर्फ मेरे ख्वाबों

उनका आना सिर्फ मेरे ख्वाबों तक महदूद है
राब्ता होते हुए भी राब्ता कोई नहीं है…

हिंदी पोएट्री २ लाइन में – दिल मे ना जाने

दिल मे ना जाने कैसे तेरे लिए इतनी जगह बन गई

तेरे मन की हर छोटी सी चाह मेरे जीने की वजह बन गई

हिंदी पोएट्री २ लाइन में – ये आप हम तो बोझ हैं

ये आप हम तो बोझ हैं ज़मीन का

ज़मीं का बोझ उठाने वाले क्या हुए