Tag: हुस्न हिंदी पोएट्री

हुस्न शायरी – ए हुस्न ज़रा सुन, तू

ए हुस्न ज़रा सुन, तू यूँ ना इतरा के चल..
मेरे महबूब की गली में, सर झुका के चल..

हुस्न शायरी – हुस्न वालों ने क्या कभी

हुस्न वालों ने क्या कभी की ख़ता कुछ भी ?
ये तो हम हैं सारे इलज़ाम लिये फिरते हैं