Tag: जुदाई hindi shayari

जुदाई शायरी – तेरी हर अदा महोबत सी

तेरी हर अदा महोबत सी लगती है,
एक पल जुदाई भी मुदत सी लगती है,
पहले नही अब सोचने लगे है हम,
की हर लम्हा तेरी ज़रूरत सी लगती है,