Shyari 2 Lines – ये बस्ती जानी पहचानी बहुत है

ये बस्ती जानी पहचानी बहुत है

यहाँ वादों की अर्ज़ानी बहुत है