Shair 2 Line Mein – शबनम नहीं न सही

शबनम नहीं न सही शुगुफ्ता ही हो जाएं ,

इक आपके शाने-इत्र से महकी हवा ही हो जाएं