New Hindi Shayari 2017 – यूँ तो अश्कों से भी होता है

यूँ तो अश्कों से भी होता है अलम का इज़हार…

हाय वो ग़म जो तबस्सुम से बयाँ होता है।