New Hindi Shayari 2017 – मन्दिर मस्जिद सी थी

मन्दिर मस्जिद सी थी मोहब्बत मेरी,

बेपनाह इबादत थी फिर भी एक न हो सके..