Latest Hindi Shayari – लाख कहते रहे ज़ुल्मत को

लाख कहते रहे ज़ुल्मत को ना ज़ुल्मत लिखना

हम ने सीखा नहीं बा-इजाज़त लिखना