Hindi Shayari 2 Line Mein – ना जाने कौन सा दर्द

ना जाने कौन सा दर्द मुझे तड़पाये जा रहा है

खामोश हूँ दुनिया के लिए पर अंदर ही अंदर रुलाये जा रहा है