Category: लिबास शायरी

लिबास शायरी – हंसी, मज़ाक, अदब, महफ़िलें… उदासियों के

हंसी, मज़ाक, अदब, महफ़िलें…
उदासियों के बदन पर लिबास कितने होते हैं

लिबास शायरी – आज अभी उनकी नज़र में

आज अभी उनकी नज़र में राज़ वही था,
चेहरा वही था चेहरे का लिबास वही था,

कैसे उन्हें बेवफा कह दूं
आज भी उनके देखने का अंदाज़ वही था

लिबास शायरी – तुझे ओढू या तेरा लिबास

तुझे ओढू या तेरा लिबास हो जाऊँ
बस तेरे रंग में ढलकर एक एहसास हो जाऊँ..

लिबास शायरी – यूं तो आदम के बदन

यूं तो आदम के बदन पर भी था पत्तो का लिबास
रूह उरियां क्या हुई मौसम घिनौना हो गया