Category: मुहब्बत शायरी

मुहब्बत शायरी – फासले हो दरमियाँ तो फैसले

फासले हो दरमियाँ
तो फैसले नही बदलते…
भले ही मुशिकलें लाख हों इश्क की राह में
मुहब्बत करने वालों के हौसले नही बदलते…

मुहब्बत शायरी – मेरे दिल मे तस्वीर है

मेरे दिल मे तस्वीर है तेरी, निगाहों मे तेरा ही चेहरा है
नशा आँखों मे मुहब्बत का, वफ़ा का रंग कितना सुनहरा है