Category: मुद्दत शायरी

मुद्दत शायरी – बड़ी मुद्दत से चाहा है

बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे
बड़ी दुआओं से पाया है तुझे
तुझे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे
किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे