हिंदी शेरो शायरी – मैं उस से झूट भी बोलूँ

मैं उस से झूट भी बोलूँ तो मुझ से सच बोले

मिरे मिज़ाज के सब मौसमों का साथी हो