हिंदी शायरी स्टेटस – यूँ ही छेड़ बैठा उनकी

यूँ ही छेड़ बैठा उनकी घनी जुल्फों को मैं नादान

ना जानता था कम्बख्त आस्तीन में सेकड़ों सांप पाले बैठा है