हिंदी शायरी – चाहे फेरे ले लो या कहो कुबूल है

चाहे फेरे ले लो या कहो कुबूल है,

अगर दिल में प्यार नहीं तो सब फिजूल है