शायरी २ लाइन में – हैं सभी को शिकायतें

हैं सभी को शिकायतें, पर हमें किसी से गिला नहीं,

उसूल हम ने बना लिया ना गिला करो ना मिला करो