शायरी २ लाइन में – लफ्जो के परदे आवाज के

लफ्जो के परदे आवाज के सच को छुपा नहीं पाते..
इतना रख यकींन..
सुन लेता हूं वो.. जो तेरे लब सुना नहीं पाते…