व्हाट्सएप्प हिंदी शायरी – सो रहा था जिन्दा लाशो मे

सो रहा था जिन्दा लाशो मे सदियो से

आज उठा हूँ मुझे कुछ तो कहने दो