Zakir Khan Shayari Usse Acha Nahi Lagta

Zakir Khan Shayari – मेरी जान के हकदार हो तो सुन लो उसे अच्छा नही लगता

Zakir Khan Shayari Usse Acha Nahi Lagta

ये खत है उस गुलदान के नाम जिसमे रखा फूल कभी हमारा था
वो जो अब तुम उसके मुखतार हो तो सुन लो उसे अच्छा नही लगता
मेरी जान के हकदार हो तो सुन लो उसे अच्छा नही लगता


के वो जो जुल्फ बिखेरे तो बिखरी ना समझना,
ग़र जो माथे पे आ जाये तो बेफिकरी ना समझना


दरअसल उसे ऐसे ही पसंद है,
उसकी आजादी उसकी खुली जुल्फो मे बंद है


जानते हो वो अगर हजार बार जुल्फे ना संवारे तो उसका गुजारा नही होता
वैसे दिल बहुत साफ है उसका,इन हरकतो मे कोई इशारा नही होता


खुदा के वास्ते उसे कभी टोक ना देना
उसकी आजादी से उसे तुम रोक ना देना


क्युकि अब मै नही तुम उसके दिलदार हो तो सुन लो
उसे अच्छा नही लगता


By: Zakir Khan

Josh Malihabadi Shayari – Love Shayari In Hindi

Josh Malihabadi Shayari - Ye Baat Ye Tabassum Ye Naaz Ye Nigahen
Josh Malihabadi Shayari – Ye Baat Ye Tabassum Ye Naaz Ye Nigahen

Josh Malihabadi Shayari – Love Shayari In Hindi

ये बात ये तबस्सुम ये नाज़ ये निगाहें
आख़िर तुम्हीं बताओ क्यूँकर न तुम को चाहें


जोश मलीहाबादी

Watch This Romantic Love Shayari Status Video (Youtube Shorts) :

Dhokha Shayari – Best Cheating Shayari Collection In Hindi

50 BEST SELECTED HINDI SHER O SHAYARI ON CHILDHOOD AND CHILDREN BY FAMOUS POETS

Parizaad Shayari Collection – Parizaad Drama Poetry In Hindi

Parizaad Drama Shayari In Hindi - Parizad Shayari - Parizaad Poetry Quotes In Hindi
मोहब्बत अब नहीं होगी
यह कुछ दिन बाद में होगी
गुज़र जाएंगे जव यह दिन
यह उन की याद में होगी।।
Parizaad Shayari In Hindi – Parizaad Drama Poetry Wallpaper

Parizaad Drama Shayari In Hindi – Parizad Shayari – Parizaad Poetry Quotes In Hindi

मोहब्बत अब नहीं होगी
यह कुछ दिन बाद में होगी
गुज़र जाएंगे जव यह दिन
यह उन की याद में होगी।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

जब बारिश की पहली बूंद गिरे तो चले आना
मेरा संदेशा मिले या न मिले तुम चले आना।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

Parizaad Shayari In Urdu

सितारे जो दमकते हैं
किसी की चश्म-ए-हैराँ में
मुलाक़ातें जो होती हैं
जमाल-ए-अब्र-ओ-बाराँ में
ये ना-आबाद वक़्तों में
दिल-ए-नाशाद में होगी
मोहब्बत अब नहीं होगी
ये कुछ दिन बा’द में होगी
गुज़र जाएँगे जब ये दिन
ये उन की याद में होगी

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

रात हो, चाँद हो, शहनासा हो
क्यों ना रग रग में फिर नशा सा हो
मैंने इक उम्र खर्च की है तुम पर
तुम मेरा कीमती एहसासा हो

एक तो खौफ भी हो दुनियां का
और मोहब्बत भी बे-तहाशा हो।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

कि मेरे क़त्ल के बाद उसने जफ़ा से तौबा
हाय उस ज़ूद-ए-पशेमां का पशेमां होना।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

Parizaad Shayari In Hindi

किस्से मेरी उल्फ़त के जो मरक़ूम हैं सारे
आ देख तेरे नाम से मासूम हैं सारे
शायद यह ज़र्फ़ है जो खामोश हूँ अब तक
वरना तो तेरे ऐब भी मालूम हैं सारे

सब जुर्म मेरी जात से मंसूब हुए “मोहसिन”
क्या मेरे सिवा शहर में मासूम हैं सारे।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

यहाँ गरीब की तो शायरी भी फैज़ुल लगती है
और गर मर्द अमीर हो तो उसके मुंह से
निकली हुई गाली भी शायरी लगती है।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

जब धीरे धीरे हसती हो,
बिल्कुल बारिश जैसी लगती हो,
थोड़ी बहुत दिल की कहती हो,
बहुत कुछ दिल में भर के रखती हो,
करने दो उन्हें साज़ ओ श्रृंगार,
तुम तो सादा भी जचती हो,
क्यों जाऊ में रंगरेज़ के पास,
तुम तो सियाह में भी जचती हो..

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

मैं तुम्हारे ही दम से ज़िंदा हूँ
मर ही जाऊं जो तुम से फुर्सत हो।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

प्यास कहती है चलो रेत निचोड़ी जाए
अपने हिस्से में समुंदर नहीं आने वाला।।

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

हम ज़रा क्या ख़फ़ा हो गए
आप तो बेवफ़ा हो गए
जान थे आप मेरे कभी
जान, लेकिन जुदा हो गए
चाहते थे मुझे और अब
जाने किस पर फ़िदा हो गए”
“अब नहीं है हम चिरागों के मोहताज,
उसकी आँखें महफिले रोशन करती हैं,
मै किताबें फिर से अलमारी मे रख आया हूँ
सुना है वह बा कमाल इन्सान पढ़ती है

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

Parizaad Drama Shayari

वो राज की तरहा मेरी बातों मे था
जुगनू जैसे मेरी काली रातों में था
किस्सा क्या सुनाऊ तुम्हे कल रात का
सितारों की भीड़ मे, वो चाँद मेरे हाथों में था

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

मेरी कलम मेरी खुव्वत चाहे मंज़िल लिखदूं
मेरी हुकूमत में, लहरों पे समंदर लिख दू
दम इतना मे मस्त रहता खुद ही मे
खुद की ही पेशानी पे कलंदर लिख दू

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

खड़ा बुलंदी पे खुदा लाख शुक्र करू
आमाल खास नहीं तो आखिरत कि फ़िक्र करू
उसको शायद पसंद है मेरा टूटना
मुसीबत भेजता है, ताकि उसका जिक्र करू

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

कुछ रास्ता लिख देगा
कुछ मै लिख दूंगा
वो लिखते जाए मुश्किल
मै मंज़िल लिख दूंगा

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

मेरा ख्वाब जागेगा मेरी नींद भरी आखों में
आँख लगे तो थाम लेना साथ मेरा

115+ Gulzar Quotes In Hindi – Gulzar Ki Shayari – Famous Hindi Poetry

Gulzar Sahab Shayari, Gulzar Sahab Quotes, Gulzar Sahab Poetry, Gulzar Sahab Ghazal Shayari, Gulzar Sahab Ki Shayari, Gulzar Sahab Alfaaz, Gulzar Sahab Rekhta Shayari, Gulzar Ki Kalam Se. Gulzar Shayari In Hindi, Heart Touching Gulzar Shayari, Motivational Gulzar Quotes In Hindi, Gulzar Shayari Zindagi Par,  Zindagi Ke Barein Mein Gulzar Vichar, Gulzar Hindi Suvichar, Hindi Quotes By Gulzar, Gulzar Thoughts In Hindi, Hindi Mein Gulzar Quotes. Famous Shayari By Gulzar

Gulzar Quotes On Zindagi Wallpaperr In Hindi - Motivational Heart Touching Truth of Life
Gulzar Quotes On Zindagi Wallpaperr In Hindi – Motivational Heart Touching Truth of Life

Gulzar Quotes In Hindi

आइने के सामने खड़े होकर

खुद से ही माफी मांग ली मैंने,

सबसे ज्यादा अपना ही दिल दुखाया है

औरों को खुश करते करते

-Written By Gulzar

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

अगर मोहब्बत उससे ना मिले

जिसे आप चाहते हो,

तो मोहब्बत उसको जरूर देना

जो आपको चाहते हैं

-Written By Gulzar

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

अपनी पीठ से निकले

खंजरों को जब गिना मैंने

ठीक उतने ही निकले

जितनो को गले लगाया था

-Written By Gulzar

=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=-=

Read more

राहगुज़र शायरी – सोचा था तुझसे दुर निकल

सोचा था तुझसे दुर निकल जाएंगे कही…
देखा तो हर मुकाम तेरी राहगुज़र मे है…