Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

Tag: मक़ाम hindi poetry

मक़ाम शायरी – ये किसने निगाहों से सागर

ये किसने निगाहों से सागर पिलाये,
ख़ुदी पर मेरी बेखुदी बन के छाये,
ख़बरदार एै दिल मक़ाम -ए -अदब है,
कहीं बादानोशी पे धब्बा न आये

Anmol Hindi Shayari © 2017