Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

Category: मानिन्द शायरी

मानिन्द शायरी – बादलों से छूट कर ये बूदें

loading...

बादलों से छूट कर
ये बूदें जमीन पर जो गिरती हैं,

कि तेरी यादों के बुलबुलों की मानिन्द
कभी बनती – कभी बिगड़ती हैं…

Anmol Hindi Shayari © 2017