Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

हुस्न शायरी – आँखें मरहबा बातें मरहबा मैं सौ

आँखें मरहबा बातें मरहबा
मैं सौ मर्तबा दीवाना हुआ
मेरा ना रहा जब से दिल मेरा
तेरे हुस्न का निशाना हुआ

loading...
Updated: January 5, 2018 — 4:47 pm

2 Comments

  1. तुमारी आखो के आसु गंगा का नीर सा लगता है, रात को जब तुम सपने होतो ही तो हकीकत सा लगता हैं।।

    1. पता हिलता नहीं हवा हिला देती हैं, लड़के/लडकिया बिगड़ते नहीं गलत सगते बिगाड़ देती हैं।।

Comments are closed.

Anmol Hindi Shayari © 2017