Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

राब्ता शायरी – इन रंज-ओ-गम की महफ़िल से

इन रंज-ओ-गम की महफ़िल से नही है अब कोई गिला
जब खुद से राब्ता नही तो तन्हाई से क्यूँ हो कोई गिला

loading...
Updated: September 28, 2017 — 10:43 am
Anmol Hindi Shayari © 2017