Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

मुसलसल शायरी – बस इक ख़ता की मुसलसल

बस इक ख़ता की मुसलसल सज़ा अभी तक है..
मेरे ख़िलाफ़ मेरा आईना अभी तक है…

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:20 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017