Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

मुंतज़िर शायरी – हवस नसीब नज़र को कहीं

हवस नसीब नज़र को कहीं क़रार नहीं
मैं मुंतज़िर हूँ मगर तेरा इंतज़ार नहीं

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:14 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017