Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

मुंतज़िर शायरी – हर सीना आह है तिरे

हर सीना आह है तिरे पैकाँ का मुंतज़िर
हो इंतिख़ाब ऐ निगह-ए-यार देख कर

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:27 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017