Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

मुंतज़िर शायरी – सुना कि अब भी सर-ए-शाम

सुना कि अब भी सर-ए-शाम वो जलाते हैं
उदासियों के दिये मुंतज़िर निगाहों में

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:24 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017