Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

मंसूब शायरी – मंसूब थे जो लोग मेरी

मंसूब थे जो लोग मेरी ज़िंदगी के साथ
अक्सर वही मिले हैं बड़ी बेरुखी के साथ

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:21 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017