Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बेमुरव्वत शायरी – ज़रुरत क्या बहाने की,किसी को

ज़रुरत क्या बहाने की,किसी को याद करने की ख़ातिर
यादें तो चली आतीं हैं,बिन बुलाए बेमुरव्वत

loading...
Updated: July 31, 2017 — 11:37 am
Anmol Hindi Shayari © 2017