Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बेमुरव्वत शायरी – गुज़र गया, फ़िर से एक और

गुज़र गया,
फ़िर से एक और दिन तेरे बग़ैर…

जाने कब ख़त्म होगी,
ये ज़िंदगी बेसबब और ये साँसे बेमुरव्वत सी…|

loading...
Updated: May 1, 2017 — 7:48 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017