Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बेचैनियाँ शायरी – बेचैन हूँ बहुत मगर पैग़ाम

बेचैन हूँ बहुत मगर पैग़ाम किसको दूँ,
जो खुद न समझ पाया वो इल्ज़ाम किसको दूँ

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:06 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017