Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बेचैनियाँ शायरी – कुछ दरमियाँ नहीं गर तेरे-मेरे,

कुछ दरमियाँ नहीं गर तेरे-मेरे, बेचैनियाँ क्यों हैं…
लौट आओ, कुछ रिश्ते बेरुखी से भी नहीं टूटा करते

loading...
Updated: January 5, 2018 — 4:47 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017