Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बाग़बाँ शायरी – हर इक ग़ुँचा है मुरझाया

हर इक ग़ुँचा है मुरझाया हुआ सा,
चमन में बाग़बाँ कोई नहीं है

loading...
Updated: May 5, 2018 — 2:59 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017