Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बाग़बाँ शायरी – यूँ बाग़बाँ ने मोहर लगा

यूँ बाग़बाँ ने मोहर लगा दी ज़बान पर
रूदाद-ए-ग़म नसीब के मारे न कह सके

loading...
Updated: June 23, 2017 — 5:19 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017