Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बाग़बाँ शायरी – बाग़बाँ होश कि बरहम है

बाग़बाँ होश कि बरहम है मिज़ाजे-गुलशन
हर कली हाथ में तलवार लिए फिरती है

loading...
Updated: April 29, 2017 — 12:48 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017