Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

बाग़बाँ शायरी – जब बहारें बेवफ़ा निकलें तो

जब बहारें बेवफ़ा निकलें तो किस उम्मीद पर
इंतिज़ार-ए-गुल की हसरत बाग़बाँ ले कर चले

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:06 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017