Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

फ़ुर्क़त शायरी – तिरी फ़ुर्क़त में क्या-क्या गुल

तिरी फ़ुर्क़त में क्या-क्या गुल खिले हैं
बदन जलने लगा है चाँदनी से

loading...
Updated: July 3, 2017 — 3:01 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017