Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

पैहम शायरी – जब ज़मीं आख़री हद्दत से

जब ज़मीं आख़री हद्दत से पिघलने लग जाये,,
इश्क़ की छाओं मेरे सर को पैहम हो ” आमीन..

loading...
Updated: September 28, 2017 — 10:43 am
Anmol Hindi Shayari © 2017