Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

निसबत शायरी – मुझे अच्छे बुरे से कोई

मुझे अच्छे बुरे से कोई निसबत है तो इतनी है
के हर ना-मेहर-बाँ की मेहर-बानी याद रखता हूँ

loading...
Updated: November 3, 2017 — 3:28 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017