Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

निसबत शायरी – तौहीन-ए-मोहब्बत भी न रही वो

तौहीन-ए-मोहब्बत भी न रही वो जौर-ओ-सितम भी छूट गए
पहले की ब-निसबत हुस्न की अब हर बात बदलती जाती है

loading...
Updated: July 3, 2017 — 3:02 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017