Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

निसबत शायरी – जब से निसबत हो गई

जब से निसबत हो गई है जाम से,
दिन गुज़रते है बड़े आराम से..

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:19 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017