Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

नाज़ शायरी – बड़े प्यार से तराशा था

बड़े प्यार से तराशा था उस संगेमरमर को
बड़ा नाज़ था उसे अपने आप पर.
एक दरार क्या पड़ी
किसीने मुड़ कर देखना तक गंवारा न समझा.

loading...
Updated: July 31, 2017 — 11:53 am
Anmol Hindi Shayari © 2017