Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

तहज़ीब शायरी – हुस्न शाइस्ता-ए-तहज़ीब-ए-अलम है शायद ग़मज़दा लगती

हुस्न शाइस्ता-ए-तहज़ीब-ए-अलम है शायद
ग़मज़दा लगती है क्यों चाँदनी राते अक्सर

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:20 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017