Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

तक़दीर शायरी – बात क़िस्मत की है ‘फ़राज़’

बात क़िस्मत की है ‘फ़राज़’ जुदा हो गए हम
वरना वो तो मुझे तक़दीर कहा करती थी

loading...
Updated: July 31, 2017 — 11:36 am
Anmol Hindi Shayari © 2017