Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

जनाब शायरी – कागज़ के नोटों से आखिर

कागज़ के नोटों से आखिर
किस किस को खरीदोगे…जनाब,
किस्मत परखने के लिए यहाँ आज भी,
सिक्का हीं उछाला जाता है

loading...
Updated: July 3, 2017 — 3:19 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017