Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

गुफ़्तुगू शायरी – मुझे गुफ़्तुगू से बढ़ कर

मुझे गुफ़्तुगू से बढ़ कर ग़म-ए-इज़्न-ए-गुफ़्तुगू है,
वही बात पूछते हैं जो न कह सकूँ दोबारा

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:26 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017