Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

क़फ़स शायरी – आशियाँ जल गया गुल्सिताँ लुट

आशियाँ जल गया गुल्सिताँ लुट गया
हम क़फ़स से निकल कर किधर जाएँगे
इतने मानूस सय्याद से हो गए
अब रिहाई मिलेगी तो मर जाएँगे

loading...
Updated: April 29, 2017 — 1:09 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017