Anmol Hindi Shayari

Shayari Collection In Hindi

loading...

आरज़ू शायरी – आरज़ू थी कि एक लम्हा

आरज़ू थी कि एक लम्हा जी लूँ तेरे कन्धे पे सर रख के…
मग़र ख्वाब तो ख्वाब हैं, पूरे कब होते हैं.

loading...
Updated: April 27, 2017 — 5:12 pm
Anmol Hindi Shayari © 2017